ताज़ा तरीन

कामरेड गोविंद सिंह रावत के गांव कोसा,चमोली पहुंची अस्कोट आराकोट यात्रा

कामरेड गोविंद सिंह रावत के गांव कोसा,चमोली पहुंची अस्कोट आराकोट यात्रा

जोशीमठ से नीति के मुख्य रास्ते में एक खूबसूरत सा गांव है कोसा।अब तक निकली 5 अस्कोट आराकोट यात्रा अभियान में यह पहला मौका था जब अभियान के यात्रीगण कोसा पहुंचे।मुझे भी इसमें रहने का मौका मिला।कोसा गांव है कामरेड गोविंद सिंह रावत जी का। वहां पहुंचने पर स्थानीय गांववासियों द्वारा हमारा जो भव्य स्वागत […] Read more

15,16, और 17 जून 2013 की आपदा के सबक

15,16, और 17 जून 2013 की आपदा के सबक

कालिका प्रसाद काला 15,16, और 17 जून 2013 को केदारनाथ-बद्रीनाथ घाटी में और पूरे उत्तराखंड में भीषण आपदा आई थी जिसमे 20 या 25 हजार लोग मारे गये थे। इनमें अधिकांश तीर्थ यात्री थे लेकिन 600, 700 लोग स्थानीय मूल निवासी भी थे जो यात्रा सीजन में अपना छोटा मोटा कारोबार या मेहनत – मजदूरी […] Read more

सम्पादकीय

सरकार कब आगे की सोचेगी

सरकार कब आगे की सोचेगी

राजीव लोचन साह 15 जून के कैंची मेले को लेकर प्रशासन के जो प्रेस नोट आ रहे हैं, उनसे लगता है कि तीसरा विश्व युद्ध जीत लिया गया है। बात बहुत गलत भी नहीं है, क्योंकि साल दर साल इस मेले में श्रद्धालुओं की संख्या कई-कई गुना बढ़ रही है। अखबारों की मानें तो छोटे […] Read more

उत्तराखंड में ऐसे चुनाव परिणाम क्यों आये ?

उत्तराखंड में ऐसे चुनाव परिणाम क्यों आये ?

राजीव लोचन साह यह सवाल उठना स्वाभाविक है कि जब पड़ौस के उत्तर प्रदेश, जिसके 24 साल पहले तक हम अभिन्न अंग थे, से हमारे चुनाव परिणाम इतने अलग क्यों हो गये ? जहाँ उत्तर प्रदेश में राहुल गांधी और अखिलेश यादव की जुगलबंदी में इंडिया गठबंधन ने भारतीय जनता पार्टी की लुटिया डुबो दी, […] Read more

आशल कुशल

देश दुनिया

15,16, और 17 जून 2013 की आपदा के सबक

15,16, और 17 जून 2013 की आपदा के सबक

कालिका प्रसाद काला 15,16, और 17 जून 2013 को केदारनाथ-बद्रीनाथ घाटी में और पूरे उत्तराखंड में भीषण आपदा आई थी जिसमे 20 या 25 हजार लोग मारे गये थे। इनमे... Read more

नुकसान तो हिमाचल को भी हुआ और उाराखंड को भी

नुकसान तो हिमाचल को भी हुआ और उाराखंड को भी

बच्ची सिंह बिष्ट देव नगर, मूलबेरी और जुबड़ शिमला जिले के इन तीन गांवों के किसानों से मिलने का मौका मिला। तीनों जगह बागवान मिले। छोटी जोत वाले। उन्होंन... Read more

किताबें

पुस्तक चर्चा/ हिमांक और क्वथनांक के बीच : उच्च हिमालय की एक यात्रा के अनेक वृतांत

पुस्तक चर्चा/ हिमांक और क्वथनांक के बीच : उच्च हिमालय की एक यात्रा के अनेक वृतांत

नवीन जोशी सितम्बर 2008 में शेखरदा (प्रोफेसर शेखर पाठक) ने प्रसिद्ध छायाकार एवं पर्वतारोही अनूप साह तथा संवेदनशील छायाकार प्रदीप पाण्डे के साथ उच्च हिम... Read more

उत्तराखण्ड हिमालय को जानने-समझने के लिए एक जरूरी पुस्तक

उत्तराखण्ड हिमालय को जानने-समझने के लिए एक जरूरी पुस्तक

अरुण कुकसाल हिमालय और हिमालयी जनजीवन के एक अध्येता के रूप में चन्द्रशेखर तिवारी लोकप्रिय हैं। उत्तराखण्ड हिमालय के सामाजिक, सांस्कृतिक और यात्रा-लेखन... Read more

साहित्य और संस्कृति

 अलविदा प्रहलाद सिंह मेहरा 

 अलविदा प्रहलाद सिंह मेहरा 

डॉ. हरीश चन्द्र अन्डोला उत्तराखंड के वरिष्ठ लोक गायक प्रहलाद सिंह मेहरा का जन्म 04 जनवरी 1971 को पिथौरागढ़ जिले की मुनस्यारी तहसील चामी भेंसकोट के राजप... Read more

जी रौं लाख सौ बरीस

जी रौं लाख सौ बरीस

विनीता यशस्वी अब तो समाचार की होली ‘नैनीताल समाचार’ के नये ऑफिस में होने लगी है, पर पहले समाचार के पटांगण में होली होती थी और क्या रंग जमता था! वे सभी... Read more

पर्यावरण

बिनसर के जंगलों में लगी भीषण आग में चार लोगों की दर्दनाक मौत

बिनसर के जंगलों में लगी भीषण आग में चार लोगों की दर्दनाक मौत

‘इंडिया भारत न्यूज’ से साभार बिनसर वन्य जीव विहार में गुरुवार शाम हुई दर्दनाक हादसे ने लोगों को झकझोर कर रख दिया। जंगल में आग का तांडव इतना विकराल था... Read more

केदारनाथ जैसे अतिसंवेदनशील जगहों को भीड़ और शोरगुल से बचाना होगा

केदारनाथ जैसे अतिसंवेदनशील जगहों को भीड़ और शोरगुल से बचाना होगा

कमलेश जोशी 10 मई को केदारनाथ के कपाट खुलने के बाद से मात्र 8 दिनों में 2,15,930 यात्री केदारनाथ धाम पहुँच चुके हैं. कपाट खुलने के दिन ही लगभग 30 हज़ार... Read more

All rights reserved www.nainitalsamachar.org